चारधाम की यात्रा एवं दर्शन 2019

चारधाम यात्रा उत्तराखंड की जानकारी

Char Dham Yatra Uttarakhand

उत्तराखंड में स्थित चार धाम को छोटा चार धाम के नाम से जाना जाता है.  छोटा चार धाम की यात्रा हर साल होती है और यहाँ हर साल देश विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं. हिमालय की गोद में बसे होने के कारण यहाँ हरियाली, स्वच्छ वायु और साफ वातावरण हमेशा लोगों को अपनी ओर खिचाता है. इसलिए कई लोगो के लिए चार धाम उत्तराखंड की यात्रा करना मनाओ एक सुन्दर सपने के पुरे होने जैसा होता है.  यहाँ की प्राकर्तिक सुन्दरता, हरे भरे जंगल, कल कल करती नदियाँ, और बर्फ से ढकी पर्वत चोटियाँ के बीच मंदिर हर किसी के मन  को मोह लेते है. क्या आपको पता है हिंदुओं के प्रमुख चार धामों के नाम क्या हैं? उत्तराखंड में स्थित छोटा चारधाम यात्रा के पड़ाव कौन से हैं? छोटा धाम 2019 में यात्रा कब से शुरू है? हमारी पोस्ट उत्तराखंड चार धाम की यात्रा के बारे में आपको सब कुछ पढ़ने को मिलेगा. आइए हम आपको चार धाम यात्रा के बारे में बताते है.

हिंदुओं के प्रमुख चार धामों के नाम

Name of char dham in hindi

हिंदू धर्म में चार धाम की यात्रा का बहुत ही महत्व है और कहा जाता है कि जो भी इस यात्रा को पूरा कर लेता है, उसके सारे पाप काट जाते हैं और स्वर्ग में स्थान मिलता है. हिंदुओं के चार प्रमुख धामों के नाम हैं- बद्रीनाथ, द्वारका, जगन्नाथ पुरी और रामेश्वरम. इन चारों को ही हिंदुओं के प्रमुख धामों में गिना जाता है. हिंदू धर्म में इन चार धार्मिक स्थलों की यात्रा को चार धाम यात्रा कहा जाता था. और उत्तराखंड में स्थित बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की यात्रा को छोटा धाम यात्रा कहा जाता है.

अवश्य पढ़ें- केदारनाथ कैसे पहुचें

चारधाम यात्रा 2019

Char Dham Yatra 2019 in Hindi

Char dham yatra starting date 2019- हर साल होने वाली छोटा चार धाम की यात्रा साल 2019 में भी होगी लेकिन अभी इसकी तारीख का ऐलान नही हुआ है char dham yatra opening dates 2019. चार धाम यात्रा मंदिर समिति हर साल इस यात्रा की शुरूवाती तारीख और समापन तारीख की घोषणा करती है. ठंडियों में बर्फबारी होने के करना यह यारता रोक दी जाती है और मंदिरों के कपाट दर्शन के लिए बंद कर दिए जाते हैं. लेकिन गर्मियों की शुरूवात होने के साथ ही मार्च या अप्रैल के महीने से इस यात्रा की दुबारा शुरूवात होती है. मंदिरों के कपाट बंद करने और फिर से खुलने के लिए हर साल तारीख निकली जाती है और मंत्र उच्चारणों और विशेष पूजा अर्चना के साथ ही कपाट खोले और बंद किए जाते हैं.

चारधाम यात्रा 2019 के पड़ाव

Char Dham Yatra 2019 Place Name

अगर आप भी 2019 में छोटा चार धाम यात्रा पर जाना चाहते हैं तो आपके मन में पहला सवाल यही आ रहा होगा की आख़िर चार धाम यात्रा 2019 कब से शुरू होगी char dham yatra 2019 kab se suru hogi? और इसके कौन कौन से पड़ाव हैं char dham yatra ke padav? अभी तक छोटा चारधाम मंदिर समिति ने इस यात्रा की तारीखों का कोई ऐलान नही किया है जैसे ही यात्रा की तारीखों का ऐलान होगा हम आपके साथ ज़रूर शेयर करेंगे. इस चार धाम यात्रा के प्रमुख पड़ाव हैं- बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, और यमुनोत्री.

Badrinath temple Kedarnath Temple

Gangotri uttarakhand ki yarta Yamunotri uttarakhand ki yarta

चार धाम यात्रा मैप- Char Dham Yatra Map

Char Dham Yatra Map

जैसा की आप चार धाम यात्रा मैप में देख पा रहे होंगे. अगर आप दिल्ली से चार धाम यात्रा में जाते हैं तो आपको सबसे पहले यमुनोत्री पहुँचना होगा फिर गंगोत्री और केदारनाथ होते हुए बद्रीनाथ. इस तरह आपकी छोटा चार धाम की यात्रा संपूर्ण होती है. यह यात्रा काफी सरल और आसान है क्यूंकी की यहाँ पहुँचने के लिए सारी सुविधायें उपलब्ध हैं. आपक सड़क और वायु दोनो मार्गों के द्वारा यहाँ पहुँच सकते हैं.

चार धाम यात्रा का रूट

Char Dham Yatra Route Map

अगर आप दिल्ली से अपनी चार धाम यात्रा शुरू करते हैं तो आपको कुल 1607 किमी की यात्रा करनी पड़ती है. दिल्ली से सबसे पहले आपको हरिद्वार पहुँचना होता है जहाँ से यात्रा शुरू होती है. यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ होते हुए बद्रीनाथ और अंत में ऋषिकेश में यात्रा समाप्त होती है.

दिल्ली > हरिद्वार > बरकोट > यमुनोत्री > उत्तरकाशी > गंगोत्री > गुप्तकशी > केदारनाथ > बद्रीनाथ > ऋषिकेश > दिल्ली

चार धाम की हेलीकॉप्टर सेवा

Chardham yatra by helicopter 2019

अगर आप चारधाम यात्रा हवाई मार्ग से पूरी करना चाहते हैं तो उत्तराखंड सरकार द्वारा हेलिकॉप्टर सेवा भी उपलब्ध है (char dham yatra by helicopter by uttarakhand government). और बहुत से प्राइवेट एजेन्सी भी हवाई सेवा उपलब्ध कराती हैं. जो थोड़ी मंहगी पड़त्ती है. अगर आप 5 दिन 4 रात के लिए हेलिकॉप्टर सेवा लेना चाहते हैं (char dham yatra tour packages by helicopter) तो आपको अनुमानन 1.35 लाख पर व्यक्ति खर्चा (char dham yatra tour package)आएगा जोकि कम ज़्यादा हो सकता है.

चार धाम यात्रा हेलिकॉप्टर पेकेज- Char dham yatra tour packages by helicopter available from Haridwar, Dehradun, Delhi.

चार धाम हेलीकॉप्टर बुकिंग

Char Dham Yatra Helicopter Booking

चार धाम यात्रा हेलिकॉप्टर सेवा की ऑनलाइन बुकिंग भी उपलब्ध है. चारधाम यात्रा पर हवाई यात्रा की बुकिंग के लिए उत्तराखंड सरकार की टूरिजम वेबसाइट से कर सकते हैं या फिर किसी भी टूर एंड ट्रेवेल एजेन्सी से बुक करा सकते हैं.

और पढ़ें- रुद्र मेडिटेशन गुफा कहाँ है

दिल्ली से कैसे पहुँचे चार धाम उत्तराखंड

Char Dham Yatra Distance from Delhi

दिल्ली से हरिद्वार – 210 किमी

हरिद्वार से बरकोट – 220 किमी

बरकोट से यमूणोतरी – 36 किमी

बारकोट से उत्तरकाशी – 100 किमी

उत्तरकाशी से गंगोत्री – 100 किमी

उत्तरकाशी से रुद्रप्रयाग – 180 किमी

रुद्रप्रयाग से केदारनाथ – 74 किमी

रुद्रप्रयाग से बद्रीनाथ – 160 किमी

बद्रीनाथ से ऋषिकेश – 297 किमी

ऋषिकेश से दिल्ली – 230 किमी

चार धाम यात्रा में पड़ने वाले प्रमुख मंदिर

Temple to visit in Char Dham Yatra

चार धाम यात्रा में केदारनाथ और बद्रीनाथ के अलावा आप बहुत से मंदिरों के दर्शन कर सकते हैं जिनमें प्रमुख हैं भविष्यबद्री मंदिर, नृसिंह मंदिर, बासुदेव मंदिर, जोशीमठ, विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी, मदमहेश्वर मंदिर, महाकाली मंदिर कालीमठ, नारायण मंदिर, तुंगनाथ मंदिर आदि. छर्धम यात्रा में इसके अलावा 5 प्रयागों के भी दर्शन करने को मिलते हैं जिनमें रूद्रप्रयाग, देवप्रयाग केदार मार्ग पर और कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग और विष्णुप्रयाग बद्रीनाथ मार्ग पर पड़ते हैं.

चार धाम यात्रा में कब जाएं

Best Time for Char Dham Yatra in Uttrakhand

उत्तराखंड चारधाम यात्रा हर साल अप्रैल महीने में शुरू होती है और अक्टूबर-नवंबर में दीवाली के बाद भाई दूज के दिन खत्म हो जाती है. वैसे तो इस दौरान आप कभी भी यहाँ देव दर्शन के लिए जा सकते हैं लेकिन पहाड़ी मार्ग होने और ठंडियों में बर्फ पड़ने के कारण सितंबर का महीना यहाँ दर्शन के लिए जाना सबसे अच्छा होता है. क्यूंकी इस समय ना तो बारिश होती है और नही बर्फबारी. सितंबर का महीना चार धाम यात्रा के लिए सबसे अच्छा होता है. अगस्त में बारिश होने से पूरी घाटी साफ स्वच्छ हो जाती है और चारों तरफ हरियाली नजर आने लगती है. जिस कारण सितंबर में यहाँ यहां की प्राकृतिक खूबसूरती देखते ही बनती है जो की श्रद्धालुओं को अपनी और खिचती हैं.

Char Dham Yatra 2019 information in hindi– आपको हमारी पोस्ट “चार धाम यात्रा” कैसी लगी कॉमेंट कर जरूर बतायें. चार धाम यात्रा की जानकारी हिन्दी में ज्यादे से ज्यादे शेयर करें.

COMMENTS

Leave a Comment