होलिका दहन शुभ मुहूरत 2019

होली 2018 के लिए बाज़ार और घरों में तैयारियां शुरू होने लगी है। इस साल की होली 2 मार्च को मनाई जाएगी. बाज़ारों में रंग, पिचकारियाँ, और रंग बिरंगी टोपियाँ आ गयी है. जिस कारण बाजार में रौनक बढ़ गई है। हर साल की तरह एस बार भी चाइनीस प्रॉडक्ट्स की माँग बनी हुई है. जैसे जैसे होली की तारीख नज़दीक आती जाएगी बाज़ार में चहल पहल और बढ़ जाएगी.

होलिका दहन 2018 तारीख और समय- Holika dahan 2018 Date

होली से एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है. इस साल बृहस्पतिवार, 1 मार्च 2018 को होलिका दहन मनाया जाएगा.  इस साल होलिका दहन का शुभ मुहूरत शाम 18:20 से 19:51 है. इस साल हिंदू पांचांग के अनुसार होलिका दहन का शुभ अवधि 1 घंटा 30 मिनट का है.

ऐसे में आज हम आपको भारत में अलग-अलग जगहों पर मनाई जाने वाली होली के बारे में बताने जा रहे हैं। तो आइए जानते है देश में अलग-अलग हिस्सों में कैसे-कैसे होली मनाई जाती है। इस साल हिंदू पांचांग के अनुसार होलिका दहन का शुभ अवधि 1 घंटा 30 मिनट का है.

होलिक दहन में चीज़ों की आहुति दी जाती है? Holika dahan puja samagri in hindi

होलिका दहन असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक है. होलिका दहन में लोग आग में आहुति देते हैं। होलिका दहन में कच्चे आम, नारियल, चीनी के बने खिलौने, नई फसल के दाने, भुट्टे, गेहूं, उडद, मूंग, चना, जौ, चावल और मसूर आदि की आहुति दी जाती है।

और पढ़ें- होली क्यों मनाते हैं?

भारत के अलग अलग राज्यों की होली- Holi celebration in India

इस पोस्ट के माध्यम से अब हम आपको बताएँगे की भारक के अलग अलग राज्यों में होली कैसे मनाई जाती है. भारत में अलग-अलग जगहों पर अलग अलग रीति रिवाज और तरीके से मनाई जाती है होली.

ब्रज की लट्ठमार होली- Lathmar holi in hindi

ब्रज की लट्ठमार होली मथुरा, वृंदावन और बरसाना के इलाकों में खेली जाती है. ब्रज की लट्ठमार होली विश्व प्रसिध है. लोग दुनियाभर से इसे देखने हर सल्ल यहाँ आते हैं. यहाँ की होली की मस्ती 8-10 दिन पहले से छाने लगती है। लट्ठमार होली महिलाएं और पुरुषों मिलकर खेलते हैं. इसमें महिलाएं लाठी से पुरुषों की पिटाई करती हैं जबकि पुरुष उनसे बचने की कोशिश करते हैं। और जमकर रंगो का उपयोग किया जाता है.  लट्ठमार होली में पानी वाली और सुखी दोनो होली खेली जाती है.

बंगाल की होली- Holi in West Bengal

बंगाल की होली को बसंत पर्व भी कहा जाता है. इस दिन बंगाल में पानी वाली और सूखे रंगों वाली होली खेली जाती है. इस दिन यहां पर राधा और कृष्ण की मूर्तियों को पूरे शहर में घुमाया जाता है और नाच गाना होता है। लोग एक दूसरे पर रंग गुलाल फैंकते है और एक दूसरे के लगे लगक्र होली की बधाई देते हैं.

पंजाब की होली- Holi in Punjab

पंजाब में भी होली को होला मोहल्ला कहते है। होला मोहल्ला का त्योहार आनन्दपुर साहिब में 6 दिनों तक मनाया जाता है जिसमें अलग अलग तरह के करतब दिखाए जाते हैं. होला मोहल्ला का त्योहार पंजाब में बहुत ही उल्लास और शोहार्द से मनाया जाता है.

बिहार की होली- Holi in Bhihar

बिहार में होली के दिन यहां पर फगुआ गीत गाया जाता है। दूध में भांग, काजू, बादाम, किसमिस मिलाकर डण्डाइ बनाई जाती है और फिर डण्डाइ पी कर लोग मस्ती में होली खेलते है और शाम को एक दूसरे के घर जा कर बधाई और शुभकामनाए देते हैं.

और पढ़ें- होली पर निबंध 2018

उत्तराखंड की होली- Holi in Uttarakhand

उत्तराखंड में लगभग हर जगह होली 6-7 दिन पहले से खेली जाती है ख़ासकर कुमाऊंनी इलाक़ों में होली की चहल पहल देखते ही बनती है. उत्तराखंड के कुमाऊंनी इलाक़ों में दो तरह की होली खेली जाती है पहली खड़ी होली और दूसरी बैठकी होली। दोनो में ही लोग राग गीत जगाते है और एक दूसरे को रंग गुलाल लगते हैं.

गोवा की होली- Holi in Goa

गोआ में होली के समय लोग देश विदेश से यहाँ पहुँचते हैं. गोआ में सुहावना मौसम होने की वजह से होली के त्योहार की मस्ती देखते ही बनती है. गोवा में होली को शिमगो त्योहार के नाम से मनाया जाता है. यह त्योहार गोवा का बहुत ही प्रसिद त्योहार है जिसमें लोग मिलकर पूरे शहर में जुलूस निकलते हैं और शाम को नाटक और संगीत का कार्यक्रम करते हैं.

आपको हमारी पोस्ट Holika dahan 2018 shubh muhurat भारत के अलग अलग राज्यों की होली कैसी लगी कॉमेंट कर ज़रूर बताए. इस पोस्ट को Twitter, Facebook और Google plus पर शेयर करें.

Leave a Comment