ओव्युलेशन टेस्ट हिन्दी में

विज्ञान और टेक्नालजी के युग में हर असंभव चीज़ को संभव करने की होड़ मची हुई है हर दिन नये नये रिसर्च हो रहे है और नये टेक्नालजी का इजात हो रहा है चाहे वा कोई भी फील्ड हो हर जगह टेक्नालजी मानव जीवन को आसान बना रही है. भारत सहित दुनियाभर में भी आजकल हर एक छेत्र में चमत्कार हो रहे हैं ऐसा ही एक छेत्र है मेडिकल.

ओवुलेशन टेस्ट- Ovulation Test in Hindi

आजकल भारत में IVF टेक्नालजी का ज़ोर शोर है. प्रेग्नेन्सी से रिलेटेड फील्ड में रोज नये नये रिसर्च हो रहे हैं. इन्ही में से एक है ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स Ovulation Test Strip. भारतीय मार्किट में ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स आसानी से उपलब्ध हैं। ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स इनफर्टिलिटी के उपचार में और महीने के सबसे फर्टाइल दिनों को जानने के प्रयोग की जाती हैं। ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स के प्रयोग से हर एक महिला अपने ओवुलेशन के बारे में जान सकती है. यह स्ट्रीप ओवुलेशन के बारे में १२ से २४ घंटे पहले ही सूचित कर देता है. अगर किसी भी महिला को उसके ओवुलेशन होने का समय मालूम हो और वह ओवुलेशन के ठीक पहले या बाद में शारारिक संबंध बनाए तो उसके गर्भ ठहरने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

ओवुलेशन क्या है? Ovulation period in Hindi

ओवुलेशन Ovulation उस प्रक्रिया को कहते हैं जब ओवरी (अंडाशय) से अंडाणु निकल कर फैलोपियन ट्यूब में आ जाता है और करीब 24 घंटो के लिए जीवित रहता है. अगर इस दौरान कोई महिला शारारिक संबंध बनाए तो उसके प्रेग्नेंट होने की संभावन सबसे अधिक रहती हैं. ओवुलेशन महिलाओं में मासिक धर्म चक्र के मध्य की अवधि में यह हो सकता है. अगर किसी महिला का 30 दिन का मासिक धर्म चक्र है तो उसका ओवुलेशन साइकल 15 दिन पर हो सकता है।

गर्भधारण कैसे पहचाने

 How to know i’m pregnant in Hindi

How to know i'm pregnant in Hindi

ओवुलेशन प्रक्रिया के दौरान संबंध बनाने में दो संभावनाएं हो सकती है। पहली संभावना, फैलोपियन ट्यूब में स्पर्म या शुक्राणु न हो। ऐसे में अंडाणु अपने आप नष्ट या डिसइंटीग्रेट हो जाता है. और महिला के पीरियड्स (मासिक धर्म) की शुरुवात हो जाती है. दूसरी संभावना- यदि ओवुलेशन प्रक्रिया के दौरान फलोपियन ट्यूब में अंडाणु को स्पर्म या शुक्राणु मिल जाये। ऐसे में अंडाणु शुक्राणु से निषेचन हो जाता है. और निषेचित अंडाणु फलोपियन ट्यूब से गर्भाशय में चला जाता है। इस तरह गर्भाशय की लाईनिंग बढ़ने लगती है नाल का विकास होता है तथा निषेचित अंडाणु बच्चे के रूप में विकसित होता है। निषेचित अंडाणु बच्चे का रूप लेने लगता है मतलब निषेचन होने के बाद महिला का मासिक धर्म रुक जाता है जो यह दर्शाता है की महिला का गर्भ ठहर गया है और अब वह गर्भवती है.

और पढ़ें- प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स काम कैसे करती है?

How Ovulation test strips works in Hindi

How Ovulation test strips works in Hindi

भारत में आजकल हर जगह ओवुलेशन टेस्ट किट Ovulation strips kit आसानी से उपलभ हैं. ओवुलेशन स्ट्रिप्स का घर पर ही प्रयोग करके ओवुलेशन का पता आसानी से लगाया जा सकता है. ओवुलेशन स्ट्रिप्स किट का प्रयोग आसान है. ओवुलेशन होने से पहले हर एक महिला के शरीर में एक हॉर्मोन उत्सर्जित होता है जिसे ल्युटनाइजिंग हार्मोन Luteinizing Hormone (LH) कहा जाता है।

आई-श्योर ओव्युलेशन टेस्ट स्ट्रीप इसी हार्मोन की उपस्थिति या अनुपस्थिति को दिखाने के लिए एक डाई का उपयोग करता है। अगर स्ट्रिप पर दो लाइनें हैं तो टेस्ट पॉजिटिव है और ओवुलेशन होने वाला है। अगर एक ही लाइन है तो टेस्ट नेगेटिव है और इसे दुबारा किया जाना चाहिए। ओवुलेशन स्ट्रिप्स किट इसी ल्युटनाइजिंग हार्मोन की उपस्थिति या अनुपस्थिति की जाँच करता है. ओवुलेशन स्ट्रिप पर दो लाइनें हैं तो इसका मतलब है की टेस्ट पॉजिटिव है और ओवुलेशन होने वाला है. अगर एक ही लाइन है तो टेस्ट नेगेटिव है. और ओवुलेशन का समय अभी नही और कुछ दिनो बाद फिर से टेस्ट करने की ज़रूरत है.

ओव्युलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स

Ovulation test strips in India

i-Know or i-Sure Ovulation Test Kit- भारत में आजकल बहुत सी ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स उपलब्ध है.  इनमें से सबसे पॉपुलर आई-श्योर i-Sure है जिससे आई-नो i-Know के नाम से भी जाना जाता है. दोनों एक ही प्रोडक्ट हैं और ovulation परीक्षण स्ट्रिप के नाम से प्रसिद्ध हैं.

ओव्युलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स की एक्यूरेसी

Ovulation test strips accuracy

भारत में उपलब्ध ओव्युलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स Ovulation test strip की एक्यूरेसी ९९ प्रतिशत है। जो की बहुत से सफल टेस्ट के बाद पाया गया है.

और पढ़ें- प्रेगनेंसी में शराब पीने के नुकसान

ओव्युलेशन टेस्ट कब करना चाहिए

When to do ovulation test

ओव्युलेशन टेस्ट महीने में तब करना चाहिए जब आप को ऐसी संभावना लगे की ओवुलेशन होने वाला है। अगर आपका मासिक धर्म समय पर होता है तो आपको ओव्युलेशन होने का सही समय का टा चल जाता है लेकिन उन महिलाओं को थोड़ी दिक्कत होती है जिनका मासिक धर्म अनियमित हो. अनियमित मासिक धर्म वाली महिलायें को ओवुलेशन के दिन का पता लगाने के लिए बार-बार ओव्युलेशन टेस्ट करना चाहिए.

i-sure या i-Know ओव्युलेशन टेस्ट कैसे करें

How to do ovulation test with i-sure or i-Know test strip

ओव्युलेशन का पता लगाने के लिए एक सॉफ कंटेनर में पेशाब (मूत्र) को इकट्ठा करें और फिर स्ट्रिप को इसमें पड़ी हुई लाइन तक डुबा दें। दस सेकंड के लिए प्रतीक्षा करें। यदि टेस्ट लाइन गहरे रंग की उभर आये तो परिणाम सकारात्मक है और ओव्युलेशन होने जा रहा है। अगर टेस्ट लाइन नहीं है तो परिणाम नेगेटिव है. और इस टेस्ट को बार-बार दोहराने की ज़रूरत है.

ओव्युलेशन टेस्ट का उचित समय

Best Time to do ovulation test

अगर आपको अपना ओव्युलेशन टेस्ट चेक करना है तो इसके लिए दोपहर का समय सबसे अच्छा माना जाता है. ओव्युलेशन टेस्ट करने वेल दिन में अधिक पानी न पियें क्योकि अधिक पानी पेशाब में हॉर्मोन की मात्रा को कम कर सकता है और परीक्षा परिणाम को प्रभावित कर सकता है।

ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स का मूल्य

Ovulation test strips price in india

मार्केट में उपलब्ध ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स या किट का मूल्य अलग अलग कंपनी का अलग है. ज़्यादेतर कंपनीज़ के ओवुलेशन टेस्ट स्ट्रिप्स का मूल्य Rs 200 से Rs 600 तक है. महिलायें जो फर्टाइल समय को जान कर प्रेगनेंसी को अवॉयड करना चाहती हैं। भारत में i-Sure or i-Know Ovulation test strip को मेडिकल स्टोर या ऑनलाइन खरीदा जा सकता है.

COMMENTS

  • Lal singh koranga

    ओवुलेशन किट expiry कितने महीनों की होती है

Leave a Comment