तुंगनाथ मंदिर का इतिहास Tungnath temple history in hindi

तुंगनाथ मंदिर का इतिहास Tungnath temple history in hindi

Tungnath Temple History- तुंगनाथ मंदिर विश्व का सबसे अधिक उँचाई में स्थित भगवान शिव का मंदिर है. तुंगनाथ मंदिर समुद्रतल से 12073 फिट की उँचाई tungnath temple height पर स्थित है. भगवान शिव के पाँच केदारों में से दूसरे केदार को तुंगनाथ के नाम से जाना जाता है. कुल पाँच केदारों में तुंगनाथ का विशेष स्थान है. कहा जाता है की भगवान राम रावण का वध करने के बाद चंद्राशीला लेख आए थे और उन्होने…

Read More

चारधाम की यात्रा एवं दर्शन 2019

चारधाम की यात्रा एवं दर्शन 2019

उत्तराखंड चारधाम यात्रा की जानकारी Char Dham Yatra in Uttarakhand उत्तराखंड में स्थित चार धाम को छोटा चार धाम के नाम से जाना जाता है.  छोटा चार धाम की यात्रा हर साल होती है और यहाँ हर साल देश विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं. हिमालय की गोद में बसे होने के कारण यहाँ हरियाली, स्वच्छ वायु और साफ वातावरण हमेशा लोगों को अपनी ओर खिचाता है. इसलिए कई लोगो…

Read More

दिवाली 2019 पूजा विधि और शुभ मुहूरत

दिवाली 2019 पूजा विधि और शुभ मुहूरत

दिवाली पूजा विधि Deepawali Pujan Vidhi in Hindi दिवाली हिंदुओं का सबसे बड़ा त्योहार है. दिवाली जिसे दीपावली भी कहा जाता है साल 2019 में दीवाली का त्योहार पूरे भारतवर्ष में 27 अक्तूबर रविवार के दिन मनाया जाएगा. साल 2018 में 7 नवंबर को मनाई गयी थी. इस दिन धन की देवी माँ लक्ष्मी की पूजा की जाती है. दीवाली यानी दीपावली को दीपों का त्योहार यानी “रोशनी का त्योहार” भी कहा जाता है. इस…

Read More

धनतेरस पूजा विधि, सामग्री और शुभ मुहूर्त 2019

धनतेरस पूजा विधि, सामग्री और शुभ मुहूर्त 2019

धनतेरस पूजा का महत्व भारतीय संस्कृति में धनतेरस के त्योहार का बहुत ही महत्व है. इस दिन धन के देवता कुबेर जिनको धन्वंतरि भी कहा जाता है, की उपासना की जाती है. भगवान धनवंतरी को भगवान विष्णु का ही रूप माना जाता है. धनवंतरी के रूप में ही भगवान विष्णु ने संसार में सेहत, स्वास्थ और आरोग्य का प्रसार किया. इसलिए अच्छी सेहत, स्वास्थ और आरोग्य की कामना के लिए धनतेरस के दिन भगवान धनवंतरी…

Read More

धनतेरस क्यों मनाते है

धनतेरस क्यों मनाते है

दीवाली/दीपावली हिंदू धर्म के 4 प्रमुख त्योहारों में एक है. दीपावली का त्योहार धन की देवी माँ पार्वती को समर्पित है. दीवाली से 2 दिन पहले धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है. जो की कार्तिक मास की कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाता है. हिंदू शास्त्रों के अनुसार इस दिन भगवान धनवंतरी का जन्म हुआ था. भगवान धनवंतरी समुद्र मंथन के बाद प्रकट होकर देवताओं को राजा बलि के प्रकोप से बचाया था. भगवान धनवंतरी अमृत…

Read More

जन्माष्टमी क्यों मनाते है? जन्माष्टमी पूजा मुहूर्त

जन्माष्टमी क्यों मनाते है? जन्माष्टमी पूजा मुहूर्त

जन्माष्टमी पूजा शुभ मुहूर्त और महत्व जन्माष्टमी / कृष्ण जन्मोत्सव- About Janmashtami in Hindi हिंदू धर्म में जन्माष्टमी का त्योहार बहुत ही धूम धाम के साथ मनाया जाता है. जन्माष्टमी यानी भगवान कृष्ण के जन्म का दिन. जन्माष्टमी का त्यौहार हर साल भाद्रपद माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है. जन्माष्टमी त्योहार की तैयारियां घरों और मंदिरों में 10-12 दिन पहले से ही खूब जोर-शोर से शुरू हो जाती है. लोग जन्माष्टमी…

Read More

रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है?

रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है?

रक्षाबंधन (राखी) का त्योहार Raksha Bandhan Festival in Hindi हिंदू धर्म में रक्षाबंधन का त्योहार सावन के पूर्णिमा को मनाया जाता है. रक्षाबंधन भाई और बहन के प्रेम का प्रतीक है. पूरे विश्व में हिंदू धर्म के अनुयायी इस त्योहार को खुशी और प्रेम से मनाते है. बहन अपने भाई की कलाई में रक्षासूत्र बाँधती और उसकी लंबी उमर की कामना करती हैं. भाई भी अपनी बहन की उम्रभर रक्षा करने का वचन देते है….

Read More

वाराही देवी मंदिर देवीधुरा का इतिहास और मान्यताये

वाराही देवी मंदिर देवीधुरा का इतिहास और मान्यताये

मां वाराही देवी मंदिर देवीधुरा Varahi Devi Mandir Devidhura Uttarakhand माँ वाराही देवी का मंदिर उत्तराखण्ड राज्य के लोहाघाट नगर से 60 किलोमीटर दूर स्थित देवीधुरा कस्बे में स्थित है.  देवीधुरा चंपावत जिले में स्थित है. माँ वाराही का मंदिर 52 पीठों में से एक माना जाता है. देवीधुरा स्थित शक्तिपीठ माँ वाराही का मंदिर पर्वत श्रंखलाओं के बीच स्थित है. मंदिर के चारों ओर देवदार के उँचे-उँचे पेड़ मंदिर की शोभा में चार चाँद…

Read More

कैलाश मानसरोवर यात्रा

कैलाश मानसरोवर यात्रा

कैलाश मानसरोवर यात्रा की जानकारी Kailash Mansarovar Yatra Hindi चीन ने कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए नाथुला दर्रे को खोल दिया है. इसे हाल ही में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की चीन यात्रा का असर कहें या भारत और चीन के सुधरते रिश्तों का कुछ भी हो यह उन सभी तीर्थ यात्रियों के लिए खुशखबरी है जो कैलाश मानसरोवर यात्रा के सपने संजोए हुए हैं. तीर्थ यात्री इस साल 8 जून से शुरू हो रही…

Read More

नानकमत्ता साहिब का इतिहास और दर्शन

नानकमत्ता साहिब का इतिहास और दर्शन

नानकमत्ता साहिब- Gurudwara Nanakmatta Sahib गुरुद्वारा नानकमत्ता साहिब उत्तराखंड राज्य के उधम सिंह नगर जिले में स्थित है. नानकमत्ता साहिब सिखों का एक ऐतिहासिक पवित्र मंदिर है जहाँ हर साल हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते हैं. उत्तराखण्ड में स्थित 3 प्रमुख सिख तीर्थ स्थानों में से एक है. उत्तराखण्ड में स्थित हेमकुंड साहिब, गुरूद्वारा श्री रीठा साहिब और नानकमत्ता साहिब प्रमुख सिख तीर्थ स्थान हैं. गुरुद्वारा श्री नानकमत्ता साहिब के समीप…

Read More
1 2 3 4