पैडमैन अरूणाचलम मुरूगनंतम बाइयोग्रफी

पैडमन कौन है who is Padman?

अरुणाचलम मुरुगनाथम को भारत में ‘पैडमैन’ के नाम से जाना जाता हैं, जो कि वास्तविक जीवन में महिलाओं के पीरियड से जुड़ी समस्याओं पर काम कर रहे हैं। अक्षय कुमार की आने वाली हिन्दी फिल्म “Padman” इन्ही के जीवन पर आधारित फिल्म हैं.

Arunachalam Muruganantham Biography in hindi

नाम – अरूणाचलम मुरूगनंतम

जन्म – 1962, कोयम्बटूर, तमिलनाडु

पिता – एस. अरूणाचलम

माता – ए. वनिता

पत्नी – शान्ति

काम- सोशल बिजनेसमैन

आर्गेनाइजेशन – जयाश्री इंडस्ट्रीज

अवार्ड – पद्मश्री

अरूणाचलम मुरूगनंतम का बचपन और करियर

Padman “Arunachalam Muruganantham” Early Life

अरुणाचलम मुरुगनांठम का जन्म 1962 में कोइम्ब्टुर, तमिलनाडु में हुआ था। इनके पिता का नाम एस अरुणाचलम और माँ का नाम ए वनिता था. माँ और पिता दोनो ही हेंड लूम बुनकर का काम करते थे. इनके घर की आर्थिक स्थिति ज़्यादे अच्छी नही थी. जब ये सिर्फ़ 14 साल के थे तो इनके पिता का सड़क एक्सिडेंट मेँ देहांत हो गया। परिवार का खर्च चलाने के लिए इन्होने पढ़ाई छोड़ दी. परिवार की आर्थिक मदद के लिए इन्होने उन्होंने खेत में मजदूरी काम किया। वेल्डर, फार्म लेबर, मशीन टूल ऑपरेटर का काम किया. मरुगनाथम ने साल 1998 में शादी कर ली इनकी पत्नी का नाम शांति है। शादी के बाद ही इन्होने कम कीमत में सेनेटरी नैपकिन का निर्माण शुरू किया और अपनी पत्नी के साथ मिलकर ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं की पीरियड्स के प्रति जागरूक करना शुरू किया।

कहां से आया आइडिया? Padman Story in Hindi

अरूणाचलम मुरूगनंतम बताते हैं, ‘एक दिन जब में दोपहर का खाना खाने के बाद बैठकर आराम कर रहा था तो मेने देखा की मेरी पत्नी अपने पीछे कुछ छिपाए हुए थी। मैने पूछा “वह क्या हैं?” तो मेरी पत्नी ने कुछ अजीब अंदाज में जबाब दिया की इससे आपका कोई लेना देना नही हैं. दरअसल, वो पीरियड्स के लिए इस्तेमाल करने वाला कपड़ा छिपा रही थी। ये सब देख कर मैंने उससे पूछा तुम कपड़ा क्यों इस्तेमाल करती हो? तो मेरी पत्नी ने जवाब दिया की वो पैसे बचाने के लिए कपड़े का इस्तेमाल करती है. बस यही से मेरे मान मन में पत्नी को इम्प्रेस करने के लिए उसे सेनेटरी नैपकिन गिफ्ट करने की सोच ली. उसी दिन मैं एक दूकान पर सेनेटरी नॅपकिन Sanitary Napkin का पैकेट खरीदकर लाया और उसी दिन से Sanitary Napkin पर रिसर्च शुरू कर दिया. उस दिन जो सेनेटरी नैपकिन लिया था उसकी क़्वालिटी अच्छी नही थी. जिसने मुझे सेनेटरी पैड पर ज़्यादे रिसर्च करने के लिए मजबूर कर दिया.

कैसे हुई जयाश्री इंडस्ट्रीज की शुरूआत

Jayashree industries in Coimbatore

Arunachalam Muruganantham wikipedia

लगातार रिसर्च और प्रॅक्टिकल से अरूणाचलम मुरूगनंतम को सस्ते सॅनिटरी नॅपकिन बनाने के नये नये आइडियास आने लगे. इसी के तहत सेनेटरी पैड बनाने वाली मशीन और तकनीकी के बारे में अरूणाचलम मुरूगनंतम ने अपने सुझाव 2006 में आईआईटी मद्रास के सामने रखा. अरूणाचलम मुरूगनंतम के इस कीमती आइडिया को बाद में नेशनल इनोवेशन अवार्ड (National Innovation Award) के लिए भेजा गया जहाँ अरूणाचलम मुरूगनंतम का यह आइडिया पहले स्थान में आया. अवार्ड जीतने के बाद उन्होंने जयाश्री इंडस्ट्रीज की शुरूआत की. अरूणाचलम मुरूगनंतम के इस अनौखे आइडिया को खरीदने के लिए बड़ी कंपनी और कॉर्पोरेट संस्थानों ने बहुत कोशिश की लेकिन अरूणाचलम मुरूगनंतम ने इसे ना बेचने का निर्णय लिया.

अरूणाचलम मुरूगनंतम पदम श्री सम्मान

Arunachalam Muruganantham Padma Shri Award 2016

अरूणाचलम मुरूगनंतम को उनके अनौखे और इनोवेटिव आइडिया के लिए भारत सरकार के द्वारा 2016 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया हैं. साल 2014 में, टाइम मैगजीन ने अरूणाचलम मुरूगनंतम को विश्व के सबसे 100 प्रभावशाली लोगो की सूची में शामिल किया गया था. अरूणाचलम मुरूगनंतम के जीवन पर डाक्यूमेंट्री भी बनाई गयी हैं. और अक्षय कुमार की आने वाली हिन्दी फिल्म Padman भी इन्ही की जीवनी पर आधारित है.

Padman movie in hindi

पैडमैन फिल्म | Padman Hindi Movie

अक्षय कुमार ने जब पहली बार पैडमैन के बारे में सुना तो वो बहुत शॉक्ड हो गये. पैडमैन की पूरी कहानी जानने के बाद वो इनसे बहुत प्रभावित हुए. अरुणाचलम मुरुगनंतम से मिले और उनपर बियापिक फिल्म बनाने की ठान ली। फिर अक्षय कुमार ने साल 2017 की शुरुआत में ही फिल्म ‘पैडमैन’ का पोस्टर अपने इंस्टाग्राम और ट्विटर अकाउंट से शेयर किया.  फिल्म के पहले पोस्टर में सैनिटरी पैड की तस्वीर नजर आ रही है।इस फिल्म में अरुणाचलम को पैडमैन बनने की कहानी को बहुत ही सुंदर तरीके से पर्दे पर उतारा गया है.

Leave a Comment