पीएफ बैलेंस चेक करने का तरीका

अगर आप गवर्मेंट सर्विस में हैं या प्राइवेट सेक्टर में जॉब करते हैंऔर आपका EPF यानि पीएफ अकाउंट हैं और उसमें हर महीने पैसे जमा होते हैं तो आप अपने EPF यानी PF फण्ड में जमा राशि अमाउंट को आसानी से जान सकते हैं। पीएफ अकाउंट में जमा राशि जानने के बहुत स तरीके हैं जैसे एप, SMS, मिस्ड कॉल इत्यादि। अब आपको अपने PF अकाउंट में जमा राशि/बैलेंस जानने के लिए साल के अंत तक इन्तजार करने की जरुरत नहीं होती। जैसा की बहुत पहले हुआ करता था जब लोग अपने PF अकाउंट का बैलेंस साल के अंत में जारी होने वाले PF स्टेटमेंट से जा पाते थे.

PF Balance Kaise Check Karein? पीएफ बैलेंस कैसे चेक करते हैं

जिस तरह से हम अपने सेविंग अकाउंट का ATM कार्ड से आसानी से बैलेंस चेक कर लेते हैं उसी तरह से EPF और PF अकाउंट का बैलेंस भी आसानी से जान सकते हैं। भारत सरकार ने EPF से सम्बंधित नियमों को अब बहुत आसान कर दिया हैं जैसे की PF अकाउंट का बैलेंस चेक करना हो या PF अकाउंट से पैसे निकलने हों। ध्यान देने वाली बात यह हैं की एपफ अकाउंट के बैलेंस को चेक करने के लिए आपका मोबाइल नंबर EPF आकउंट में लिंक होना चाहिए।  इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात की EPF बैलेंस चेक करने के लिए आपका UAN (यूएन) नंबर एक्टिवेट होना जरूरी है। इसके अलावा आपका केवाईसी अप्रूव होना आवश्यक हैं बिना UAN नंबर और KYC के बिना आप बैलेंस चेक नहीं कर सकते.

अवश्य पढ़ें- PF निकालने का आसान तरीका

डिजिटल इंडिया के तहत आज प्रोविडेंट फंड यानी PF का पैसा निकालने से लेकर इसके बैलेंस चेक करने तक बहुत ही आसान हो गया हैं. आप अपने PF अकाउंट का बैलेंस एक क्लिक में कहीं से भी एक मिनट में चेक कर सकते हैं. आइये हम आपको बताते हैं कि पीएफ (PF) बैलेंस चेक करने के कौन से आसान तरीके हैं –

How to Check EPF Balance In Hindi

  1. रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से मिस कॉल
  2. SMS से PF बैलेंस चेक
  3. उमंग अप्प से PF बैलेंस चेक
  4. m-epf ऐप्स से PF बैलेंस चेक
  5. EPFO पोर्टल से PF बैलेंस चेक

PF निकलने की आवश्यक शर्त

यूएएन नंबर एक्टिवेट होना जरूरी UAN Number Must Be Activated

Digital दौर में EPF Balance बैलेंस जानने के लिए सबसे पहला और महत्वपूर्ण स्टेप हैं की आपका UAN number एक्टिवेट होना चाहिए बिना इसके आप अपना PF बैलेंस चेक नहीं कर सकते. इस पोस्ट में हमने जो भी पफ निकलने के तारिक बताये हैं उन सभी में आपको UAN की जरुरत पड़ेगी इसलिए सबसे पहले UAN activate होना चाहिए.

जरूर पढ़ें- UAN Number क्या होता और कैसे एक्टिवेट करें 

पीएफ अकाउंट बैलेंस स्कीम क्या हैं? PF account balance scheme in Hindi

PF सेविंग स्कीम- सरकारी कर्मचारी हो या प्राइवेट हर कोई retirement सेविंग प्लान जरूर लेता हैं चाहे वो किसी भी सवरूप का हो। पीएफ बैलेंस भी एक तरह का retirement saving प्लान है जिसमें आप और आपका नियोक्ता नियमित रूप से पैसा जमा करते हैं। जब एक बार ईपीएफ हो जाते हैं तो आप जब तक नौकरी करते हैं, इस Scheme के Member बने रहते हैं। पैसा किस हिसाब से जमा होता है आइए जानते हैं-

  • प्राइवेट एम्प्लोयी हो या प्राइवेट सेक्टर एम्प्लोयी जिनकी Basic Salary 15000 रुपए से कम हो, उनका PF कटना अनिवार्य है। ऐसे में एम्प्लोयी और एम्प्लायर दोनों ही बराबर-बराबर रकम जमा करते हैं जो की एम्प्लोयी के PF अकाउंट में जमा होता रहता हैं.
  • यह राशि हर महीने जमा होती हैं और एम्प्लोयी के Basic Salary के 12 % से कम नहीं होनी चाहिए। यानी कि एम्प्लोयी और Employer दोनों मिलाकर एम्प्लोयी के Basic Salary के 24 % के बराबर पैसा जमा होना चाहिए.
  • ध्यान देने वाली बात यह हैं की एम्प्लायर ke 12 % में से 8.33 % EPF pension scheme में जाता है और शेष बची हुई रकम एम्प्लोयी के EPF account में चली जाती है। लेकिन एम्प्लोयी का पूरा का पूरा 12 % EPF account में ही जाता है.
  • एम्प्लोयी EPF Balance में से कुछ हिस्सा अपनी नौकरी के दौरान निकल सकता हैं और नौकरी छोड़ने या पूरी होने के बाद EPF का पूरा पैसा निकाल सकता हैं.
  • अगर एम्प्लोयी नौकरी बदलता हैं तो उसका पुराने PF Account का पैसा नए PF Account में ट्रांसफर हो जाता है.

Leave a Comment