प्रेगनेंसी में शराब पीने के नुकसान

नई दिल्ली, 27 Dec 2017- प्रेगनेंसी हर एक महिला के लिए एक अलग तरह का एहसास है. प्रेगनेंसी एक शब्द नही एक भावात्मक अनुभूति है जिसे लफ़जो में बयान नहीं किया जा सकता है. यह अपने आप में सकूँन देने वाला होता है. हर एक महिला का ख्वाब होता है की वो मां बने और स्वस्थ बच्चे को जन्म दे इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान सावधानियाँ (safety during pregnancy) भी बरतनी पड़ती हैं. प्रेगनेंसी के दौरान माँ और बच्चे दोनो की देखभाल ज़रूरी है. ख़ासकर ख़ानपान का. पौष्टिक खानपान (healthy diet during pregnancy) से माँ और बच्चे दोनो का विकास अच्छे से होता है और दोनों में पॉज़िटिव एनर्जी (positive energy during pregnancy) का संचार होता है. एक स्वस्थ माँ ही एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकती है. इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को पौष्टिक चीज़े (health food for pregnant lady) खाने के लिए दिया जाता है. लेकिन जो औरतें शराब का सेवन करती हैं उनको बहुत सावधानी (safe pregnancy in hindi) बरतनी पड़ती हैं.

जो औरतें शराब का सेवन करती हैं उनका सबसे मुख्य सवाल ही यही होता है की क्या प्रेगनेंसी में शराब का सेवन करना सही है या गलत? (Is drinking wine during pregnancy safe?) यह एक ऐसा सवाल है जो हर एक महिला का होता है जो शराब का सेवन करती है. इस सवाल का सही जबाब भी किसी के पास नही है. अगर कोई महिला प्रेगनेंसी के दौरान शराब का सेवन करती भी है तो उसकी क्या लिमिटेशन होनी चाहिए (how much wine is safe during pregnancy. कितनी मात्रा में महिला को शराब पीना चहिए (how much wine is safe during pregnancy), उसका होने वाला बच्चा स्वस्थ रहे और उस पर इस शराब का कोई असर न पड़े. इस बारे में सही जानकारी किसी के पास भी नहीं है। वैसे तो एग्ज़ॅक्ट कोई भी 100% सही नही है. सारे अनुमान ही लगाते हैं. आइए जानते हैं की प्रेगनेंसी में शराब पीना सुरक्षित होता है कि नहीं?

गर्भावस्था के दौरान शराब पीने के नुकसान | Effect of Drinking Alcohol during Pregnancy in Hindi

Drinking Alcohol during Pregnancy in Hindi

 

  1. जैसा की हम सभी लोग जानते हैं की एल्‍कोहल का सेवन स्वास्थ पर विपरीत असर डालता है। अधिक मात्रा में प्रतिदिन शराब पीने से शरीर (wine effect on body) में कई प्रकार की गंभीर बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। शराब का सीधा असर किड्नी और लीवर wine effect on liver पर होता है. अधिक मात्रा किसी भी चीज़ की सही नही होती. प्रेगनेंसी और शराब का सेवन दोनों एक साथ नहीं चल सकती हैं। कई अध्‍ययनों से पता चला है कि गर्भावस्‍था के दौरान शराब पीने से गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ पर असर पड़ता है.
  2. भारत में ज़्यादातर सरकारी विग्यापन भी यही बोलते हैं की जो महिलायें गर्भ धारण करने की कोशिश कर रही हैं (how to get pregnant in hindi) उन्हें शराब से दूर रहना चाहिए।
  3. क्यूँ की pregnancy के दौरान माँ और बच्चे का विकास एक दूसरे से जुड़ा होता है इसलिए अगर कोई प्रेग्नेंट महिला शराब का सेवन करती है तो तो शराब उसकी रक्तकोशिकाओं के माध्यम से गर्भ में पल रहें शिशु तक पहुंचता है जो की बच्चे के विकास को बाधित करता है. इसलिय सही यही है की प्रेग्नेन्सी के दौरान शराब से दूर ही रहना चाहिए.
  4. Pregnancy के दौरान शराब पीने से सबसे बड़ा नुकसान miscarage (गर्भपात) का होता है. बहुत से scientific रिसर्च से पता चला है की शराब की वजह से गर्भ में पल र्हे बच्चे का वजन भी कम होता है और उसकी मृत्यु भी हो सकती है.
  5. फेटल अल्कोहल स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर Fetal Alcohol Spectrum Disorder (FASD) एक बहुत ही ख़तरनाक बिमारी है जिसमें गर्भ में पल रहे बच्चे के पूर्ण विकास में असर होता है. इस बीमारी की वजह से बच्चे में कई प्रकार की कमियां आ जाती हैं जैसे की बच्चे के मस्तिष्क छोटा होता है या धीरे सीखने की क्षमता.
  6. Pregnancy के दौरान शराब के सेवन से गर्भ में पल र्हे बच्चे को down सिंड्रोम बीमारी down syndrome disease के होने का अंदेशा होता है.
  7. Pregnancy के दौरान शराब के सेवन से गर्भ में पल र्हे बच्चे के मस्तिष्क, सुनने की क्षमता, हृदय, रक्त, वजन प्रणाली को प्रभावित कर सकती है.

हमारी यह पोस्ट आपको कैसी लगी ज़रूर बतायें. इस पोस्ट को facebook twitter में share करें.

COMMENTS

  • naveen

    Thanks for sharing for such a useful post. Hashmi Deaddiction capsule is the best treatment to get rid of alcohol addiction naturally.

Leave a Comment